Thursday, 30 April 2020

खुलासा: जब अमिताभ बच्चन को रोकने के लिए ऋषि कपूर ने खरीद लिया था वो ऑवार्ड


बॉलीवुड अभिनेता ऋषि कपूर के निधन पर एक तरफ जहां माहौल शोकाकुल बना हुआ है तो वहीं दूसरी तरफ अब उनसे जुड़ी कई ऐसी परते खुलती हुई नजर आ रही है, जिन्हें जान आप यकीनन हैरत में पड़ जाएंगे। बता दें कि ऋषि कपूर ने अपनी एक आत्मकथा लिखी थी, जिसमें उन्होंने अपने जीवन से जुड़े कई अहम घटनाक्रम को बेदह खुल्लमखुल्ला तरीके से साझा किया था। जिसे जान आप दंग रह जाएंगे। उस दौरान उनकी यह आत्मकथा, जिसका नाम भी खुल्लमखुल्ला ही था, काफी चर्चा में रही थी। ये भी पढ़े :ऋषि कपूर के निधन से दुखी हुआ पाकिस्तान, अब जमकर वायरल हो रहा tweet  पिता को लेकर सबसे बड़ा खुलासा... अपनी आत्मकथा 'खुल्लमखुल्ला' में उन्होंने अपने पिता राज कपूर को लेकर कई हैरतअंगेज खुलासे बेहद बेबाकी के साथ किए थे। उन्होंने अपने पिता के बारे में कहा था कि उनकी शादी के बाद भी कई महिलाओं के साथ अफेयर रहे थे। जिस बात की जानकारी उनके मां को भी थी। हालांकि, इसका असर कभी उनके माता-पिता के पारिवारिक जीवन पर नहीं पड़ा था। ऋषि ने कपूर ने अपनी आत्मकथा में कहा था कि उनके पिता का अफेयर नरगिस जी के साथ था। इसके बाद उनका अफेयर वैजयंतीमाला से भी चला। अपने पहले प्यार के बारे में बड़ा खुलासा  इतना ही नहीं, इस दौरान अपनी आत्मकथा में ऋषि कपूर ने अपने प्यार को लेकर बड़ा खुलासा करते हुए कहा कि उनकी पहली गर्लफ्रेंड एक पारसी लड़की थी, जिसका नाम यास्मिन था। यास्मिन के साथ वे डेट पर भी गए थे। 1973 में बॉबी रिलीज होने के बाद स्टारडस्ट मैगजीन ने मेरी और डिंपल के बीच रोमांस पर एक बड़ी कवर स्टोरी छापी थी। मगर बाद में डिंपल ने राजेश खन्न से शादी कर ली थी। नीतू पर फोड़ते अपनी असफलता का ठीकरा  इसके साथ ही ऋषि कपूर ने एक बड़ा खुलासा करते हुए कहा कि बॉबी फिल्म हीट जाने के बाद ऐसी ही उम्मीद उन्हें अपनी दूसरी फिल्मों से भी थी। मगर अफसोस ऐसा हो नहीं पाया। बॉबी के अलावा उनकी दूसरी फिल्में वैसा कमाल नहीं दिखा पा रहे थे, जैसा वे उम्मीद कर रहे थे, जिसके बाद वे डिप्रेशन में चले गए। इतना ही नहीं, अपनी फिल्मों की नाकामियो का ठीकरा अपनी पत्नी नीतू पर भी फोड़ दिया करते थे, जिसके बाद बाद एक पल के लिए उनकी फैमिली लाइफ को भी इफेक्ट पड़ा था, मगर बाद में वे अपने दोस्तों की मदद से इन सब से उबर पाए।  जब ऋषि कपूर ने ऑवार्ड खरीदा  ऋषि कपूर बताते हैं कि जिस ऑवार्ड पर अमिताभ बच्चन की नजर थी, उस ऑवार्ड को उन्होंने अपने पीआरओ की मदद से 30 हजार रूपए में खरीदा था। बताया जाता है कि इस ऑवार्ड पर अमिताभ बच्चन की नजर थी। ऋषि कपूर ने कहा था कि वे यह कहते हुए शर्मिंदा हैं, लेकिन ये सही है कि मैंने वो अवार्ड खऱीद लिया था। उन्होेंने कहा था कि वे इस बात के लिए श्योर थे कि यह ऑवार्ड अमिताभ बच्चन को जंजीर के लिए मिल जाएगा, जो उसी साल रिलीज हुई थी। ये भी पढ़े :ऋषि कपूर के अलावा इन हस्तियों के निधन पर भी बॉलीवुड हो गया था वीरान; खामोश और सन्न

SHARE THIS

Author:

0 comments: