Thursday, 30 April 2020

बड़े हसमुख और जिंदादिल इंसान थे ऋषि कपूर, उनके निधन पर परिवार ने जारी किया ये पैगाम


'जिंदगी जिंदादिली का नाम है' इस कथन को दिवंगत अभिनेता ऋषि कपूर ने न ही न कहीं पढ़ा था और न ही लिखा बल्कि इसे जिया था, जिस प्रकार एक इंसान किसी लिबास को अपने तन में उतारता है, ठीक उसी प्रकार से इस कथन को ऋषि साहब ने अपने जीवन में उतारा था। उन्होंने इस बात को बखूबी साबित किया कि वाकई में जिंदगी जिंदादिली का ही नाम है। हां.. यह भी एक हकीकत है कि जिंदगी में ऋतुए बदलती रहती हैं। पड़ाव बदल जाते हैं। लोग बदल जाते हैं। कई मर्तबा जिंदगी के हालात बदल जाते हैं, मगर यकीनन हम कह सकते हैं कि इन सभी पर विजयी पाने का नाम ही था ऋषि कपूर, जो आज हम सब को हमेशा-हमेशा के लिए छोड़ कर चले गए। ये भी पढ़े :मुस्लिम किरदारों में जादूगरी बिखेरते थे ऋषि कपूर, जानिए उनके कुछ किरदारों के बारे में  उनके निधन की खबर सुनकर पूरी बॉलीवुड जगत इस समय सदमे में हैं। इस खबर की जानकारी सबसे पहले अमिताभ बच्चने ने ट्वीट कर दी। उन्होंने कहा कि इस खबर से वे पूरी तरह से टूट चुके हैं। इसके बाद इस खबर की जानकारी खुद ऋषि कपूर के परिवार ने दी। ऋषि कपूर के भाई रणधीर कपूर ने खुद उनके निधन की जानकारी दी। बता दें कि रणधीर कपूर अपने समय के जाने माने कलाकार रहे हैं। वहीं ऋषि कपूर के निधन पर उनके परिवार ने पूरा एक पैगाम जारी कर इस बात की जानकारी दी है। फिलहाल तो उनका यह मैसेज सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रहा है। सोशल मीडिया पर भी ऋषि कपूर के निधन से लोग सदमे में है। तरह-तरह से उनके प्रशंसक अपना शोक व्यक्त कर रहे हैं। https://ift.tt/2YivRlf वहीं परिवार की ओर से बयान जारी कर कहा गया है कि  'हमारे प्रिय ऋषि कपूर का ल्यूकेमिया के साथ दो साल की लड़ाई के बाद आज सुबह 8:45 बजे अस्पताल में शांति से निधन हो गया। उन्होंने अंतिम समय तक अस्पताल के डॉक्टरों और चिकित्सा कर्मचारियों का मनोरंजन किया।' उनके परिवार के मुताबिक, ऋषि कपूर ने इन दो सालों में अपनी जिंदगी को खुलकर जीने की कोशिश की। हर मलाल, हर दुख और हर अफसोस को किनारे कर अपनी जिंदगी को खुलकर जीने की कोशिश की। आज उनके निधन पर हर दिल उदास है। ये भी पढ़े :ऋषि कपूर के अलावा इन हस्तियों के निधन पर भी बॉलीवुड हो गया था वीरान; खामोश और सन्न

SHARE THIS

Author:

0 comments: